ALT ALT ALT ALT
ALT
ALT ALT ALT
ALT ALT ALT
 
  Untitled Document
श्री अनार देवी खण्डेलवाल महिला पॉलीटैक्निक, मथुरा
संस्थापिका का संक्षिप्त परिचय
कोई भी संस्था, संस्थापित उद्‌देश्यों को साकार करने से ही अपनी पृथक पहचान बना पाती है। उसके आदर्श ही उसे उच्च पद पर आसीन कर पाते हैं, परन्तु उद्‌देश्य, आदर्श अथवा स्वप्न तब तक फलविहीन रहते हैं, जब तक निष्ठा, प्रतिबद्धता, संलग्नता, समर्पण, परिश्रम, ईमानदारी तथा अनुशासन का अनुपालन अपेअपेक्षानुसार नहीं किया जाता है। वास्तव में यह्रक्रियान्वयन ही है, जो किसी भी संस्था को पल-प्रतिपल उन्न और अन्ततः गौरवमय बनाता है। शिक्षा सस्था के सन्दर्भ में तो यह मान्यता और भी अधिक महत्वपूर्ण व पालनीय हो जाती है क्योंकि उसमें भावी स्वर्ण रेखाऐं आवृत्त होती हैं। मथुरा स्थिति ''श्री अनार देवी खण्डेलवाल महिला पॉलीटैक्निक'' उत्तर प्रदेश की ऐसी ही संस्था है, जिसका प्रातिभिक किरणों को अनावृत्त करने का गौरवपूर्ण इतिहास रहा है।

यह संस्था श्री अनार देवी खण्डेलवाल महिला पॉलीटैक्निक, मथुरा सोसाइटी द्वारा, शिक्षा सत्र १९८४-८५ से प्रारम्भ की गई थी तथा उत्तर प्रदेश शासन द्वारा माह जनवरी, १९८५ में, शासनादेश संखया-६७६७/१८-प्रा०शि०-२-२५(बी)/८२ दि०.०२.१.८५ द्वारा श्री अनार देवी खण्डेलवाल महिला पॉलीटैक्निक, मथुरा की स्थापना बसन्त पंचमी के शुभ पर्व एवं भारतीय गणतन्त्र दिवस २६, जनवरी, १९८५ को, श्रीमती अनार देवी जी खण्डेलवाल के कर-कमलों द्वारा हुई थी। यह संस्था, ब्रज क्षेत्र की एकमात्र महिला प्राविधिक शिक्षण संस्था है तथा श्री कृष्ण भगवान की जन्म एवं कर्मस्थली ब्रजभूमि मथुरा के व्यस्ततम् वृन्दावन मार्ग (आर.सी.ए. कन्या महाविद्यालय के सामने) पर, मथुरा रेलवे जँक्शन एवं पुराने बस स्टैन्ड से ०४ किमी० तथा नये बस स्टैण्ड से ०३ किमी० की दूरी पर, पावन यमुना नदी के किनारे पर स्थित है। मथुरा जनपद में ०२ बस स्टैण्ड, रेलवे लाइन के दो जँक्शन तथा लगभग सभी प्रमुख गाडियोंके मथुरा में ठहराव आदि के कारण, संस्था में प्रवेशित एवं अध्ययनरत छात्राओं को, मथुरा से अपने घर आने-जाने में किसी प्रकार की कोई असुविधा नहीं होती है।

संस्था का अपना भवन, जो मानक एवं आवश्यकता की दृष्टि से बहुत छोटा एवं वॉन्छित १० एकड़ भूमि के स्थान पर मात्र ०.६ एकड भूमि में निर्मित है, जो मानक के अनुसार बहुत छोटा है। अतः वर्तमान में चारों पाठ्‌यक्रमों में से ०२ पाठ्यक्रमों इलैक्ट्रॉनिक्स इंजी० एवं इलैक्ट्रॉनिक्स इंजी० (एम०सी०ई०ए०) का प्रशिक्षण मूल संस्था भवन में तथा ०२ पाठ्यक्रमों लाइब्रेरी एण्ड इन्फॉरमेशन साइन्स एवं माडर्न ऑफिस मैनेजमेन्ट एण्ड सेक्रेटेरियल प्रैक्टिस का प्रशिक्षण, शहर के मध्य एक अन्य बड़े किराये के भवन (महाविद्या कालोनी, महाविद्या देवी मन्दिर के पास, मथुरा) में करवाया जा रहा है।